योग

शक्ति योग क्या है - आसन और लाभ

Pin
Send
Share
Send


शक्ति शब्द एक संस्कृत शब्द है, जो सभी मनुष्यों में मौजूद ऊर्जा के बारे में बोलता है। यह आपको उस शक्ति की खोज करने के लिए प्रेरित करता है जो आपके भीतर है। इस विशेष कला की गुणवत्ता गतिशील, उत्कृष्ट और बहुत ही सुंदर है। यह पूरी दुनिया में प्रचलित है और लंदन, फ्लोरिडा, न्यूयॉर्क, चेन्नई, मुंबई, हरिद्वार आदि में इसके अलग-अलग केंद्र हैं।

शक्ति योग आसन:

इस शक्‍ति योग साधना के मूल विचार और समझ को नीचे चित्रों के साथ साझा किया गया है।

1. योग शक्ति चटाई:

शक्ति योग का अभ्यास करने के लिए, आपको शक्ति चटाई का उपयोग करना चाहिए। इसे बिस्तर या किसी अन्य सतह पर रखें जो बहुत नरम हो। आप अपनी गर्दन के नीचे एक तौलिया या एक नरम तकिया भी रख सकते हैं। ऐसी स्थिति में लेट जाएं ताकि आपकी त्वचा आपके शरीर के सभी एक्यूप्रेशर बिंदुओं के संपर्क में आ जाए। आराम करें और कुछ सांसें लें।

2. वापस स्थिति मुद्रा:

शक्ति योग में पहली और सबसे बुनियादी स्थिति आपकी पीठ पर पड़ी है। यह एक्यूप्रेशर बिंदुओं और आपकी रीढ़ के कशेरुकाओं में स्थित नसों को उत्तेजित करने में मदद करेगा। ऐसा करते समय अपनी गर्दन के नीचे तकिया रखना सबसे अच्छा है। अपने पैरों को ज़मीन पर स्थिर रखें। गहरी सांस लें।

और देखें: क्या है साधना योग

3. जबड़े की स्थिति:

जबड़े की स्थिति करने के लिए, बस अपने गाल को शक्ति की चटाई पर रखें। आप अपने चेहरे और चटाई के बीच कपड़े के एक पतले टुकड़े का उपयोग कर सकते हैं। एक-दो बार ऐसा करने के बाद, कपड़ा हटाया जा सकता है। यह स्थिति आपके चेहरे को फिर से जीवंत करेगी और आपके जबड़े और गर्दन के क्षेत्र में सभी तनावों को दूर करेगी।

4. हाथ की स्थिति आसन:

हाथ की स्थिति को करने के लिए, आपको शक्ति चटाई पर अपनी पीठ के बल लेटने की जरूरत है और अपने दोनों हाथों को विपरीत दिशाओं में अपने बगल में रखें। ऐसा करने से आप अपने मस्तिष्क में एक संतुलन प्राप्त करने में सक्षम होंगे और बेहतर ध्यान करने की आपकी क्षमता में वृद्धि होगी। शक्ति चटाई योग अभ्यास के लिए आदर्श है।

और देखें: योग त्रियोग

5. तीसरी आँख मुद्रा:

तीसरी आँख मुद्रा करने के लिए, शक्ति चटाई पर लेट जाएँ और अपने हाथों को अपनी दोनों आँखों पर रखें। श्वास लें और धीरे से साँस छोड़ें। यह आपके चेहरे पर चमक लाएगा और आपकी विचार प्रक्रिया को भी हल्का कर देगा। आप इसके बाद आराम, कायाकल्प और बहुत ताज़ा महसूस करेंगे।

6. लशंती स्थिति:

लशंती स्थिति के लिए, आपको अपने दोनों हाथों को छाती पर रखने की आवश्यकता है; एक हाथ दूसरे के ऊपर होना चाहिए। यह चक्र को खोलेगा, आपकी इंद्रियों को शांत करेगा और आपकी भावनाओं को शांत करेगा। यह स्थिति उन लोगों के लिए बहुत अच्छी है जो दूसरों के प्रति अधिक दयालु और दयालु बनना पसंद करेंगे।

और देखें: एकात्म योग हठ

7. महा शवासन:

महा शवासन पीठ, नितंब और गर्दन के लिए अच्छा है। यह आपको बेहतर आराम करने में मदद करता है और आपके पूरे शरीर में ताकत और ऊर्जा के स्तर को बढ़ाता है। यह महा शक्ति योगियों द्वारा अभ्यास किए जाने वाले सबसे आम आसनों में से एक है क्योंकि यह करने के लिए सबसे आसान स्थिति है और आपको ध्यान के अच्छे और गहरे स्तर को प्राप्त करने में मदद करता है।

8. शोम दत्त आसन:

शोम दत्त आसन आपके पेट, आपके पैरों और आपकी जांघों पर काम करता है। यह आपकी श्वास को खोलता है और आपके भीतर की आग को बाहर निकालने का एक शानदार तरीका है। यह उन लोगों के लिए सबसे आवश्यक और महत्वपूर्ण स्थिति है जो प्रतिदिन योगशक्ति का अभ्यास करते हैं।

और देखें: योग आसन और उनके लाभ

9. शक्ति योग के लाभ:

शक्ति योग आपकी सच्ची भावना को जगाने में आपकी मदद करता है। इसकी अलग-अलग शैलियाँ हैं जो आपको विभिन्न भावनात्मक और शारीरिक चुनौतियों का सामना करने में मदद करती हैं। यह आपके व्यक्तित्व में सुधार करता है और आपको विनम्र और नम्र बनाता है। इस क्षेत्र में आप जितने कुशल होंगे, उतने ही बेहतर परिणाम प्राप्त होंगे।

छवियाँ स्रोत: 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9।

Pin
Send
Share
Send